Worn out bike tyres are causing road accidents when to change know rules and penalty regarding use of old tyres – News18 हिंदी

हाइलाइट्स

घिसे टायर में बाइक चलाना खतरनाक.
सड़कों पर बाइक के स्लिप होने के मामले बढ़े.
जानिए कब बदलवानें चाहिए टायर.

नई दिल्ली. आप बाइक चलाते हुए सुरक्षित रहें इसके लिए सिर्फ हेलमेट पहनना ही काफी नहीं है, बल्कि बाइक की कंडीशन पर भी ध्यान देना बेहद जरूरी है. अगर बाइक का कोई पार्ट हद से ज्यादा घिस गया है तो बेहतर है कि कोई बड़ी समस्या खड़ी होने से पहले ही उसे बदल दिया जाए. दोपहिया वाहनों के घिसे टायर आज बाइक चालकों के लिए काल बन रहे हैं, जिसके वजह से देश में दोपहिया वाहन दुर्घटनाओं की संख्या बढ़ रही है.

पिछले कुछ सालों से देश में सड़कों की स्थिति में सुधार हुआ है. चाहे वह नेशनल हाईवे हों या फिर स्टेट की सड़क. सड़कों की स्थिति सुधरने से गाड़ियां तेज चलने लगी हैं, लेकिन इससे दुर्घटनाओं की सांख्य में तेजी से इजाफा हुआ है. ऐसे में बाइक टायर के स्लिप होने के भी मामले बढ़े हैं. टायर चिकना होने से अचानक ब्रेक लगाने पर दोपहिया वाहन स्लिप हो जाते हैं और इसमें वाहन सवार लोग नीचे गिर जाते हैं. हाईवे या ट्रैफिक वाली सड़क पर ऐसी घटनाएं जानलेवा भी साबित हो रही हैं. तेज रफ्तार बाइक के स्लिप होकर बड़ी गाड़ियों के नीचे आने के कई मामले सामने आए हैं.

घिसे टायर का इस्तेमाल गैरकानूनी
आपको बता दें कि अगर आप घिसे हुए टायर पर अपनी बाइक या स्कूटर चला रहे हैं, तो ऐसा करना गैरकानूनी है. नियम के अनुसार, अगर टायर की मोटाई 1.6 एमएम से कम होती है तो उसे घिसा हुआ माना जाता है. टायर के घिस जाने पर उसमें बने थ्रेड मिटने लगते हैं जिससे सड़क पर टायर की पकड़ बहुत कम हो जाती है. ऐसी बाइक का इस्तेमाल खतरे से खाली नहीं है. खासकर बरसात या गीली सड़कों पर ऐसी बाइक ज्यादा फिसलती है और इनका इस्तेमाल करना काफी खतरनाक हो जाता है. घिसे हुए टायर के साथ बाइक चलाने पर मोटर वाहन अधिनियम के तहत आपपर ट्रैफिक पुलिस 100 रुपये का जुर्माना लगा सकती है.

टायर का भी होता है एक्सपायरी डेट
टायर के दोनों तरफ किनारों पर मोटे अक्षरों से कोड लिखा होता है. इसे देखने के बाद एक्सपायरी डेट चेक किया जा सकता है. इस पर वजन उठाने की क्षमता, टायर की चौड़ाई-लंबाई और अधिकतम स्पीड लिखी होती है. टायर खराब हो जाए तो ऐसी स्थिति में आप नंबर को देखकर उसे बदलवा सकते हैं.

समय पर टायर बदलवाते रहें
सवाल ये है कि टायर कब बदलवाने चाहिए? तो आपको बता दें कि यदि गाड़ी 30,000 किलोमीटर चल चुकी है तो नियम के अनुसार आपको नए टायर लगवाना लेने चाहिए. नए टायर की ग्रिप अच्छी होती है जिससे फिसलने की संभावना बेहद कम हो जाती है. दुर्घटना से बचने के लिए समय पर टायर बदलवाते रहें.

Tags: Auto News, Bike news, Bikes

#Worn #bike #tyres #causing #road #accidents #change #rules #penalty #tyres #News18 #हद

Leave a comment