Vin numbers of car can expose your personal data to car thieves risking to car theft and key cloning – News18 हिंदी

हाइलाइट्स

कार के VIN से बढ़ा डेटा लीक होने का खतरा.
चोर कर रहे चाबियों की क्लोनिंग.
नकली चाबी से चोरी की घटना को दे रहे अंजाम.

नई दिल्ली. कार कंपनियों द्वारा बेचे जाने वाली हर कार को एक अलग VIN यानी व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर दिया जाता है. ये 17 डिजिट का नंबर होता है कार के आधार संख्या के जैसा होता है. कार कंपनियों को ये आइडेंटिफिकेशन नंबर देना अनिवार्य होता है. चाहे वह कार हो, बाइक हो या बस और ट्रक, बिना इस नंबर के किसी भी गाड़ी की बिक्री नहीं की जा सकती. लेकिन आपने सुना ही होगा कि तकनीक सुविधा लेकर आती है तो उसे साथ कुछ समस्याएं भी साथ आ जाती हैं.

दरअसल, इसी व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर का उपयोग करके आज वाहनों की चोरी भी की जा रही है. ऐसे कई मामले सामने आए हैं जहां चोरों ने कार के VIN की मदद से उसकी चोरी को अंजाम दिया है. यहां आज हम आपको बता रहे हैं कि आप अपने VIN की जानकारी को कार चोरों के हाथ में जाने से कैसे बचा सकते हैं. तो चलिए जानते हैं.

VIN से जानकारी चोरी होने का खतरा
VIN से आपकी जानकारी चोरी होने का खतरा बढ़ गया है. यदि आपकी कार के बाहर कहीं व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर लिखा है तो आपको ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. दरअसल, अपराधी इस नंबर के जरिये आपकी व्यक्तिगत जानकारी तक अपनी पहुंच बना सकते हैं. अगर अपराधियों के हाथ आपकी कार का ये नंबर लग गया, तो वो इससे आपका रजिस्टर्ड पता, नंबर, नाम, उम्र आदि की जानकारी हासिल कर सकते हैं.

how to remove vin from car windscreen, can vin leads to car theft, what is vin cloning, car key cloning through vin, car key can be cloned using vin, how to keep vin safe, how to keep car safe from thieves, what is vin in cars, what is vehicle identification number

चाबी की हो सकती है क्लोनिंग?
कार के VIN के जैसे ही कार की चाबी भी यूनिक होती है. लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अपराधी आपकी कार के व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर से चाबी की क्लोनिंग भी कर सकते हैं. यानी बिना असली चाबी की जरूरत के नकली चाबी बनाई जा सकती है. मार्केट में कई ऐसे की क्लोनिंग टूल मौजूद हैं जिससे अपराधी कार की नकली चाबी तैयार कर लेते हैं. इसके अलावा VIN का इस्तेमाल अपराधी चोरी की गई कार की पहचान को छुपाने के लिए भी करते हैं. चोरी की गई गाड़ियों के आइडेंटिफिकेशन को बदलने के लिए उसी मेक और मॉडल की दूसरी कार के VIN का इस्तेमाल किया जाता है.

how to remove vin from car windscreen, can vin leads to car theft, what is vin cloning, car key cloning through vin, car key can be cloned using vin, how to keep vin safe, how to keep car safe from thieves, what is vin in cars, what is vehicle identification number

कैसे रहे सुरक्षित?
VIN नंबर 17 डिजिट का कोड होता है जिसमें कार के मैन्युफैक्चरिंग डेट, इंजन कैपेसिटी और फ्यूल टाइप के साथ-साथ गाड़ी किस प्लांट में बनी है, इसकी भी जानकारी छुपी होती है. कई गाड़ियों में व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर (VIN) चेसिस, बूटस्पेस या कार के अंदर सीट के निचले भाग में प्रिंट होता है. इसके अलावा यह आपकी गाड़ी के आरसी, इंश्योरेंस पॉलिसी और डीलरशिप के पास भी होता है. हालांकि, अगर VIN कार के विंडस्क्रीन का किसी भी बाहरी सतह पर है, तो इससे आपकी जानकारी दूसरों तक पहुंचने का खतरा बना रहता है.

कई गाड़ियों पर VIN विंडस्क्रीन पर स्टीकर के तौर पर चिपका होता है. अगर आप VIN की जानकारी को सुरक्षित रखना चाहते हैं तो स्टीकर से नंबर को स्क्रैच कर दें या स्टीकर को ही पूरी तरह हटा दें. इसके अलावा कार को हमेशा ऐसी जगह पार्क करने की कोशिश करें जहां आसपास सीसीटीवी कैमरे लगे हों.

Tags: Auto News, Cars

#Vin #numbers #car #expose #personal #data #car #thieves #risking #car #theft #key #cloning #News18 #हद

Leave a comment