TikTok Meta X and other social media platforms criticized in America for the safety of children | अमेरिका में बच्चों की सुरक्षा को लेकर हुई TikTok, Meta और X की आलोचना, कहा

Social Media: मेटा, टिकटॉक, एक्स, स्नैपचैट और डिस्कॉर्ड जैसे दुनिया के दिग्गज सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यौन शोषण के संबंध में बच्चों की सुरक्षा में कमी रखने का आरोप लगाया गया है. इस आरोप के बाद सोशल मीडिया के इन दिग्गजों ने 31 जनवरी, 2024 को वाशिंगटन, डीसी में अमेरिकी सीनेट न्यायपालिका समिति के सामने गवाही दी है.

इस दौरान न्यायपालिका समिति रूम में माहौल काफी तनावपूर्ण और भावनात्मक था, जिसमें पीड़ित बच्चों के माता-पिता भी मौजूद थे. रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों पक्षों के सीनेटर्स यानी प्रतिनीधियों का मानना है कि सोशल मीडिया कंपनियां अपनी जिम्मेदारी की उपेक्षा कर रही हैं, जिससे युवा लोगों को सीधा नुकसान हो रहा है.

सासंदों ने सोशल मीडिया दिग्गजों पर लगाया आरोप

स्टॉप सीएसएएम एक्ट (Stop CSAM Act) और किड्स ऑनलाइन सेफ्टी एक्ट (KOSA) जैसे प्रस्तावित बिल रेगुलेटरी एक्शन यानी नियामक कार्रवाई  की आशा प्रदान करते हैं. ऐसे कानून को पारित करने की प्रक्रिया में समय लगता है. मौजूदा समय पर चल रही आलोचना के अलावा, सोशल मीडिया कंपनियों को और विशेष रूप से मेटा (फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सऐप) को बाल सुरक्षा, अविश्वास मुद्दों और डेटा गोपनीयता संबंधी चिंताओं से संबंधित चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.

कानून निर्माताओं और इन कंपनियों के सीईओ के बीच में पहले भी विवाद हो चुका है. हालांकि, पहले इन दोनों के बीच का विवाद सोशल मीडिया ऐप्स पर अविश्वास और डेटा गोपनीयता के उल्लंघन जैसे मुद्दों पर केंद्रित था, परिस्थितियां अभी भी वैसी ही बनी हुई है.

मार्क जुकरबर्ग ने क्या कहा?

सीनेटर (अमेरिकी प्रतिनिधि) जोश हॉले ने मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को खड़े होने और सीधे उन माता-पिता से माफी मांगने के लिए मजबूर किया, जिनका मानना था कि मेटा के प्लेटफार्म्स की वजह से उनके बच्चों की बुरी हालत हुई है. उसके बाद मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने जवाब दिया कि, “किसी को भी उन चीजों से नहीं गुजरना चाहिए जो आपके परिवारों ने झेला है.”

सुनवाई के दौरान अमेरिकी सांसदों ने मेटा पर ध्यान केंद्रित किया, इसके बड़े यूज़र बेस, हाई-प्रोफाइल गोपनीयता मुद्दों और उनकी कानूनी चुनौतियों पर जोर दिया, जिसमें न्यू मैक्सिको के अटॉर्नी जनरल का हालिया मुकदमा भी शामिल था. 

सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने जुकरबर्ग पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आपके हाथ खून से रंगे हैं. उसके बाद जुकरबर्ग ने एक्स (ट्विटर), स्नैपचैट, टिकटॉक और डिस्कॉर्ड के अधिकारियों के साथ इस सुनवाई में अपनी सफाई पेश की. आपको  बता दें कि अमेरिका में हुई इस सुनवाई के दौरान एक वीडियो चलाया गया, जिसमें बच्चे सोशल मीडिया पर अपने उत्पीड़न के बारे में बता रहे थे. यह वीडियो डिजिटल युग में बच्चों की सुरक्षा पर मज़बूत करने पर जोर देता है.

यह भी पढ़ें: Vodafone Idea 5G: जल्द लॉन्च होगी वोडाफोन-आइडिया की 5G Service, क्या अब बदलेगी Vi की किस्मत?

#TikTok #Meta #social #media #platforms #criticized #America #safety #children #अमरक #म #बचच #क #सरकष #क #लकर #हई #TikTok #Meta #और #क #आलचन #कह

Leave a Comment