Bharat ncap results to be declared in december 2023 know the cost of car assessement in bncap vs gncap and process – News18 हिंदी

हाइलाइट्स

बीएनसीएपी कार क्रैश टेस्ट के परिणाम जल्द आएंगे सामने.
एक कार के असेसमेंट में खर्च होंगे 60 लाख रुपये.
मंत्री नितिन गडकरी कर सकते हैं रिजल्ट्स की घोषणा.

नई दिल्ली. भारत न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (BNCAP) के तहत कारों के क्रैश टेस्ट (Car Crash Test) का पहला चरण पूरा कर लिया गया है और इस सप्ताह या महीने के अंत में परिमाण घोषित किए जा सकते हैं. इससे कार ग्राहकों को बेहतर तरीके से खरीदारी का निर्णय लेने में मदद मिलेगी. बीएनसीएपी रेटिंग से पता चल पाएगा कि दुर्घटना के समय कौन सी कार यात्रियों को कितना सुरक्षित रख सकती है.

भारत एनसीएपी टेस्टिंग 15 अक्टूबर को शुरू होने वाली थी, लेकिन त्योहारों के मौसम के कारण इसे 15 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया था. हालांकि, परीक्षण एजेंसियों ने अपना असेसमेंट पेश कर दिया है. एक से पांच तक स्टार रेटिंग प्रदान करने की औपचारिक प्रक्रिया की घोषणा केंद्रीय सड़क परिवहन संस्थान (सीआईआरटी) पुणे करेगा, जो कार इवैल्यूएशन स्कीम के लिए प्रोग्राम मैनेजर है.

यह भी पढ़ें: हर स्टेट में झंडे गाड़ रही ये गाड़ी, 2023 में फिर से बनी नंबर-1, कीमत सिर्फ 6 लाख!

परिणामों के लिए हो सकता है मेगा इवेंट
रिपोर्ट्स के अनुसार, बीएनसीएपी से जुड़े अधिकारी एक मेगा इवेंट की तैयारी कर रहे हैं, जिसमें परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी द्वारा परिणामों की घोषणा करने की संभावना है. बीएनसीएपी ने एक वेबसाइट भी लॉन्च की है, हालांकि इस वेबसाइट पर किसी भी व्हीकल की क्रैश टेस्ट रेटिंग जारी नहीं की गई है.

इन कंपनियों की कारों की हुई टेस्टिंग
जिन कंपनियों की कारों की टेस्टिंग हो चुकी है उनमें हुंडई, किआ, मारुति सुजुकी, महिंद्रा, टोयोटा और अन्य कंपनियों की कारें शामिल हैं. भारत एनसीएपी एक वालंट्री प्रोग्राम है जो हर कार के बेस वेरिएंट को टेस्ट करता है. इस प्रोग्राम के तहत मार्केट से किसी भी कार को टेस्टिंग फैसिलिटी में लाकर उसकी निष्पक्ष रूप से टेस्टिंग की जा सकती है. कंपनियां खुद भी अपनी कारों का असेसमेंट करवाने के लिए उन्हें फैसिलिटी में भेज सकती हैं. कंपनियों के लिए एक गाड़ी के असेसमेंट का खर्च 60 लाख रुपये तक हो सकता है. आपको बता दें कि ग्लोबल एनसीएपी से विदेशों में असेसमेंट करवाने का यही खर्च 2.5 करोड़ रुपये तक है.

यह भी पढ़ें: हर दिन 200 यूनिट की सेल्स से इस कार का बढ़ा भाव, अब कंपनी कर रही कीमत बढ़ाने की तैयारी

क्या है टेस्टिंग की प्रक्रिया
भारत एनसीएपी में उन गाड़ियों की टेस्टिंग की जाएगी जिसमें ड्राइवर के साथ कुल 8 लोगों तक के बैठने की क्षमता होगी. बीएनसीएपी अपनी फैसिलिटी में पेट्रोल और डीजल गाड़ियों के साथ-साथ सीएनजी, इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड गाड़ियों का भी टेस्ट करेगा. गाइडलाइंस के अनुसार, टेस्टिंग एजेंसियां 64 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड पर फ्रंटल इम्पैक्ट टेस्ट, 50 किलोमीटर प्रति घंटे पर साइड इम्पैक्ट टेस्ट और 29 किलोमीटर प्रति घंटे पर पोल साइड-इम्पैक्ट टेस्ट करेंगी.

Tags: Auto News, Cars, Nitin gadkari, SUV

#Bharat #ncap #results #declared #december #cost #car #assessement #bncap #gncap #process #News18 #हद

Leave a comment